लिवर में घाव के लक्षण कारण इलाज दवा उपचार डॉक्टर बचाव

लिवर में घाव होने के कारण – Liver Injury Causes in Hindi

मेडिकल भाषा में लिवर की चोट को ‘लिवर लैकरेशन’ कहा जाता है. लिवर में चोट कई कारणों से लग सकती हैं, जो इस प्रकार है –

एक्सीडेंट

मोटर वाहन दुर्घटना यानी एक्सीडेंट लिवर में चोट लगने का सबसे मुख्य कारण माना जाता है. जब किसी भी व्यक्ति का एक्सीडेंट होता है या फिर हो जाता है, तो उसे लिवर में चोट लग सकती है और रक्तस्राव हो सकता है. जिससे लिवर में घाव होने का कारण बन सकता है।

चाकू या गोली लगना

जिस व्यक्ति के पेट पर कभी चाकू या गोली लग गया हो या फिर लग जाती है, तो उसे लिवर में चोट लग सकती है. इस दौरान उसे हैवी ब्लीडिंग हो सकती है. इसके अलावा, पेट में दर्द व सूजन आदि का भी सामना उसे करना पड़ सकता है. बंदूक और चाकू का घाव व्यक्ति के लिए गंभीर हो सकता है. तो इस तरह से भी लिवर में घाव होने का कारण हो सकता है।

बल के साथ गिरना

कई बार ऐसा होता है कि व्यक्ति खेलते-खेलते, दौड़ते या फिर चलने के दौरान तेजी से गिर जाता है. तो कोई बल के साथ गिरता है, तो इससे लिवर में चोट लग सकती है. इस तरह से भी लिवर में घाव का कारण बन सकता है।

कोगुलोपैथी

कोगुलोपैथी भी लिवर में चोट का एक कारण हो सकता है. कोगुलोपैथी ऐसी स्थिति है, जिसमें शरीर में रक्त सही तरीके से नहीं जम पाता है. यह समस्या अधिक रक्तस्राव का कारण बन सकती है. इसलिए, इसे ब्लीडिंग डिसऑर्डर भी कहा जाता है. रिसर्च में साबित हुआ है कि कोगुलोपैथी के कारण लिवर में चोट लग सकती है.

पैरा-अमीनो सैलिसिलिक एसिड (पीएएस)

टीबी में लिए जाने वाले पैरा अमीनो सैलिसिलिक एसिड के प्रति कुछ लोग संवेदनशील होते हैं. लगभग 0.3-5 फीसदी लोगों को पीएएस लेने के बाद लिवर में चोट के लक्षण महसूस हो सकते हैं.

एनेस्थेटिक एजेंट

एनेस्थेटिक एजेंट के कारण भी लिवर में चोट आ सकती है. एक रिसर्च में भी इनहेलेशन एनेस्थेटिक को लिवर में चोट के लिए जिम्मेदार माना गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *