क्या आप जानते हैं मोदी, अमिताब, ओबामा, गूगल, एप्पल सभी लोग भारत के कौन से गांव में रहते हैं?

क्या आप जानते हैं मोदी, अमिताब, ओबामा, गूगल, एप्पल सभी लोग भारत के कौन से गांव में रहते हैं? कर्नाटक के बेंगलुरु में बहादुरपुर गांव के बारे में जहां Modi, Amitabh, Obama और Google भी रहते हैं! 

 

क्या आप जानते हैं मोदी, अमिताब, ओबामा, गूगल, एप्पल सभी लोग भारत के कौन से गांव में रहते हैं?

Modi Amitabh Obama Google Apple kaha rahte hai :-  क्या आप भी जानने के उत्सुक है कि Narendra Modi, Amitabh Bachchan, Obama, Google, Apple इत्यादि सभी लोग भारत के कौन से गांव में रहते हैं, तो आज हम इसी के बारे बताने वाले हैं।

  जब किसी के घर में कोई बच्चा होने वाले होते हैं या फिर बच्चा जन्म लेता है, तो उसके माता-पिता से लेकर सभी रिश्तेदारों तक बच्चे के नाम को लेकर काफी एक्साइटेड होते हैं। आजकल कई लोगों के माता-पिता अपने नाम पर ही बच्चों का नाम रखते हैं।

और कई लोग वाकायदा पूजा पाठ कराकर अपने बच्चे का नाम रखवाते हैं, लेकिन कर्नाटक के एक गांव में अजीबोगरीब परंपरा है। वहां पर बच्चों के नाम किसी भी फेमस शख्सियत, कंपनी और वस्तुओं के नाम पर अपने बच्चों का नाम रख दिए जाते हैं। इस गांव में, Modi, Amitabh, Obama, Google, Apple जैसे बच्चों के नाम भी हैं।

 

भारत के इस गांव में रहते हैं मोदी, ओबामा, अमिताभ बच्चन, गूगल, यूट्यूब लोग

Yahan rahte hai Modi, Amitabh Google :- कर्नाटक राज्य के एक गांव में अजीबोगरीब परंपरा है, जहां पर बच्चों के नाम किसी भी फेमस शख्सियत, बड़ी-बड़ी कंपनी और वस्तुओं के नाम पर अपने बच्चों का नाम रख दिए जाते हैं। इस गांव में, मोदी, ओबामा, अमिताभ, गूगल, एप्पल और यूट्यूब जैसे बच्चों के नाम भी शामिल हैं।

  इस खास परंपरा वाले गांव का नाम बहादुरपुर है। इस गांव में अपने बच्चे का नाम रखने के लिए ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ती हैं। लोग उसे अपनी पहचान बना लेते हैं, जो दुनिया में सबसे ज्यादा मशहूर हो।

 

मोदी, ओबामा, अमिताभ, गूगल इत्यादि जैसी नाम रखने वाले गांव का नाम क्या हैं?

Modi Amitabh Obama Google jaisa naam rakhne wale ganv ka naam :- यह गांव बेंगलुरु के पास है, जिसका नाम बहादुरपुर हैं। यहां हाक्कीपिक्की आदिवासी समुदाय के लोग रहते हैं। हाक्कीपिक्की समुदाय के लोग जंगलों से निकलकर गांव में बस गए और अपने कई नए नियम बना लिए।

  हाक्कीपिक्की समुदाय ने अपने हिसाब से अपने बच्चों का नाम रखने का नियम बना लिया है। वो सब ट्रेंडिंग में चल रहे लोगों का नाम, फेमस चीजों और वस्तुओं पर अपने बच्चों के नाम रखते हैं। जैसे अगर आज कोई बच्चा जन्म लेता है, तो वे वर्तमान दौर को देखते हुए, उसका नाम शायद कोरोना रख दें या फिर कोविड वैक्सीन।

  यह सिलसिला सालों से चला आ रहा है। इसलिए इस गांव में रहने वाला हर व्यक्ति अपनी अनोखी पहचान बनाकर रखता है। जैसे किसी का नाम गूगल है, तो कोई ओबामा है। किसी ने खुद को सुप्रीम कोर्ट पहचान दी है, तो कोई माइक्रोसॉफ्ट कहलवाना पसंद करता है।

वैसे यहां Narendra Modi, Amitabh Bachchan, Obama, Google, Apple, Soniya Gandhi, Supreme Court, Microsoft भी यहां रहते हैं।

 

बहादुरपुर गांव के बारे में जहां Modi, Amitabh, Obama और Google भी रहते हैं!

Bahadurpur ganv ke bare me :-  हम्पी विश्वविद्यालय के ट्राइबल स्टडीज डिपार्टमेंट के चेयरपर्सन केएम मेत्री बताते हैं कि हाक्कीपिक्की समुदाय के लोग खुद को राजपूत महाराज महाराणा प्रताप का वंशज मानते हैं। यह समुदाय के लोग पहले देश के कई हिस्सों में फैला हुआ था पर अब कर्नाटक राज्य के राज्यधानी बेंगलुरु के आसपास के गांवों में बसा हुआ है।

  यहां के आदिवासी लोग पहले अपने बच्चों के नाम कंदमूल, फलों, नहरों और नदियों के नाम पर रखा करते थे। आज भी गांव के बुजुर्ग नीम, पीपल, बांस और बेरी जैसे अनोखे नामों से जाने जाते हैं। ऐसा इसलिए था, क्योंकि आदिवासी खुद को जंगलों से जुड़ा हुआ मानते थे।

   वे जंगलों पर आश्रित थे और उसे सम्मान देने के लिए इस तरह के नाम रखे जाते थे, लेकिन आजकल नए नाम रखे जाने लगे हैं। कई लोगों ने तो आधार कार्ड और राशन कार्ड पर भी यही नाम लिखवा रखे हैं। और उन लोग आधार कार्ड और राशन कार्ड भी नाम रख चुके हैं।

  अनोखे नाम रखने के अलावा हाक्कीपिक्की समुदाय में कई और भी अच्छी बातें हैं। जैसे इस समुदाय में बेटी के जन्म पर उत्सव मनाया जाता है और जब उसकी शादी होती है, तो दूल्हा पक्ष के लोग बेटी के परिवार को तोहफे के तौर पर रकम या कोई कीमती चीज देते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि आदिवासियों का मानना है कि कन्यादान दुनिया का सबसे महान दान है।

   और इसकी पूर्ति कोई नहीं कर सकता। ऐसे में जब एक पिता अपने बेटी किसी परिवार को दे रहा है, तो वह सम्मान का हकदार है और उसे कीमती चीज तोहफे में देना उसी सम्मान को जताने का एक तरीका है।

  इसके अलावा समुदाय के लोग आज भी जंगलों से लकड़ियां बीनने के काम करते हैं, ना कि लकड़ी के लिए पेड़ों को काटने का। ये शायद इकलौता समुदाय ही होगा, जो 14 तरह की भाषाएं बोलने और लिखने में माहिर है। हालांकि ये भाषाएं हमारी आम कही सुनी जाने वाली भाषाओं से अलग है, जिसे केवल आदिवासी बातचीत के दौरान इस्तेमाल करते हैं।

 

Modi, Amitabh, Obama और Google जैसे नाम रखने वाले गांव के बारे में अंतिम शब्द

  तो दोस्तों आपको इस आर्टिकल में “क्या आप जानते हैं मोदी, अमिताब, ओबामा, गूगल, एप्पल सभी लोग भारत के कौन से गांव में रहते हैं?” के बारे में जानकारी कैसी लगी। अगर अच्छी लगी हो, तो इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ शेयर जरुर करें।

 

Read also :- Mobile से जन्म तिथि कैसे निकालें?

Read also :- जन्म तिथि से जानें अपनी Age को यहां!

Read also :- क्या आप अपनी मृत्यु तिथि देखना चाहते हैं, तो यहां देखें!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *